World AIDS Day 2020: महिलाओं को HIV/AIDS होने पर शरीर देता है 14 चेतावनी, और 5 संकेत

हर साल 1 दिसंबर को वर्ल्ड एड्स डे मनाया जाता है, जिसका लक्ष्य एचआईवी इन्फेक्शन के प्रसार के कारण होने वाली महामारी एड्स के बारे में जागरूकता बढ़ाना है। एचआईवी/एड्स एक खतरनाक बीमारी है। डब्ल्यूएचओ के साल 2017 के एक आंकड़े के अनुसार, इस जानलेवा बीमारी से दुनिया लगभग 40 लाख लोग पीड़ित हैं।

असुरक्षित यौन संबंध से संक्रमित साथी से एचआईवी होने का खतरा बहुत बढ़ जाता है। संक्रमित सुइयों, सीरिंज या ड्रग उपकरण का उपयोग करने से भी एचआईवी प्रेषित हो सकता है। अधिकांश महिलाएं को योनि संबंध के दौरान एचआईवी होता है।

एचआईवी के लक्षण अलग-अलग मामलों में अलग-अलग हो सकते हैं। किसी महिला को संक्रमण होने पर लक्षण 2-4 सप्ताह में नजर आ सकते हैं।

अक्सर इन लक्षणों को एचआईवी के बजाय एक सामान्य सर्दी या फ्लू समझा जाता है। एचआईवी संक्रमण वाले लगभग 80 प्रतिशत व्यक्ति फ्लू जैसे लक्षण महसूस करते हैं।

एक्सपर्ट मानते हैं कि कभी-कभी लक्षणों के प्रकट होने में कई साल लग सकते हैं। बच्चे के जन्म के दौरान मां से उसके बच्चे में एचआईवी भी फैल सकता है. यही वजह है कि सभी गर्भवती महिलाओं की गर्भावस्था के दौरान एचआईवी जांच की सलाह दी जाती है।

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *