EMI पर सुप्रीम कोर्ट से मिल सकती है खुशखबरी! कर्जदारों के लिए आ सकता है बड़ा फैसला

लॉकडाउन के दौरान बैंकों की ओर से दिए गए लोन वापस करने की अवधि को लेकर आज सुप्रीम कोर्ट में फिर से सुनवाई शुरू होगी. सुप्रीम कोर्ट आज लोन वापस करने की अवधी के दौरान बैंकों की ओर से ब्याज पर ब्याज वसूलने को लेकर सुनवाई करेगा. पिछले हफ्ते की सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने मामला खत्म होने तक किसी भी खाते को NPA घोषित नहीं करने का आदेश दिया था.

हालांकि कोर्ट का ये आदेश आखिरी नहीं बल्कि कुछ समय के लिए था. कोर्ट में आज की सुनवाई आखिरी हो सकती है, क्योंकि आज सिर्फ सरकार को ही अपना पक्ष रखना है, इसके बाद हो सकता है कि कोर्ट अपना ऑर्डर रिजर्व रख ले. आपको बता दें कि सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कहा था कि लोन चुकाने में मिली मोहलत की अवधि यानि मोरेटोरियम को 2 साल तक बढ़ा सकती है.

अगर सुप्रीम कोर्ट सरकार के इस प्रस्ताव को मान लेती है, तो कर्जदारों को कम से कम 2 साल तक लोन चुकाने से राहत मिल सकती है, लेकिन ये किन शर्तों पर हो सकता है, सुप्रीम कोर्ट ही तय करेगा. सरकार की ओर से दी गई छूट की अवधि 31 अगस्त को खत्म हो चुकी है.

उसके बाद अब रिजर्व बैंक ने लोन की वन टाइम रीस्ट्रक्चरिंग की बात कही है. यानी कि यदि खाताधारक चाहे तो लोन को अपने हिसाब से एक बार के लिए बड़ा सकता है। इसके चलते बैंक आपको कुछ तरीके बताएंगे जिससे आप लोन की ईएमआई में कटौती कर सकेंगे, हालांकि ब्याज दर उसी हिसाब से बढ़ता रहेगा।

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *