1 जनवरी से महंगा होगा UPI से ट्रांजेक्शन करना, देना होगा Extra Charge

आगामी 1 जनवरी से पूरे देश में यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (UPI) के जरिए किसी को भी पेमेंट करना महंगा साबित होगा. इसके लिए यूजर्स को अतिरिक्त चार्ज देना होगा, अगर कोई व्यक्ति थर्ड पार्टी ऐप्स का इस्तेमाल करता है. नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने 1 जनवरी से यूपीआई पेमेंट सर्विस पर अतिरिक्त चार्ज लगाने का निर्णय लिया है.

NPCI ने यह फैसला भविष्य में किसी भी थर्ड पार्टी ऐप की मोनोपॉली रोकने और उसे साइज के हिसाब से मिलने वाले विशेष फायदे से रोकने के लिए किया है.  लोगों को फोनपे (Phonepe), गूगलपे (Google Pay), अमेजन पे (Amazon Pay) जैसे थर्ड पार्टी ऐप्स से पेमेंट करने पर एक्सट्रा चार्ज देना होगा. वहीं पेटीएम जैसे ऐप पर एनपीसीआई ने कैप का अतिरिक्त चार्ज नहीं लगाया है.

सरकार की ओर से बताया गया है कि देश में हर महीने करीब 200 करोड़ यूपीआई लेनदेन हो रहे हैं. ये UPI लेनदेन विभिन्न पेमेंट्स ऐप्स के माध्यम से हो रहे हैं. यह डिजिटल भारत के लक्ष्य के लिए एक अच्छा संकेत है, लेकिन ऐसे में UPI लेनदेन के मामले में किसी एक थर्ड पार्टी ऐप के एकाधिकार की भी गुंजाइश है, जो कि इस दिशा में ठीक नहीं है. इसलिए ऐसा फैसला लिया गया है.

Share this:

Leave a Comment