हरियाणा और पंजाब से दिल्ली आ रहे किसान क्यों हैं परेशान? क्या हैं उनकी मांग?

 हरियाणा और पंजाब के किसानों ने कुछ दिनों पहले दिल्ली चलो आंदोलन शुरू कर दिया है। करीब दो लाख से ऊपर के सामने की तरफ बढ़ रहे हैं। ऐसे में इस आंदोलन को देखने पर यह सवाल उठता है कि आखिर ईन किसानों की मांग क्या है। आपको बता दें इस साल जून के महीने में मोदी सरकार कृषि सुधार से जुड़े तीन अध्यादेश लेकर आई थी।

 हालांकि, सितंबर महीने में इन अध्यादेशों की जगह सरकार ने संसद में तीन बिल पेश किए। तीनों बिल पास हो गए और राष्ट्रपति की मंजूरी भी मिल गई। हालांकि किसानों को इस बिल के पास होने से ज्यादा खुशी नहीं हुई और तब से किसान इस बिल को लेकर आंदोलन पर अड़े हुए हैं। इस बिल में कुछ ऐसी चीजें हैं जिन पर किसान विरोध जता रहे हैं किसानों का मानना है कि उत्पाद को अपने हिसाब से बेचने की उनकी स्वतंत्रता खत्म कर दी गई है

साथ ही इस बिल में, भंडारण की व्यवस्था नहीं है, इसलिए वे कीमत अच्छी होने का इंतजार नहीं कर सकते। इस वजह से उन्हें कम कीमत पर अपने उत्पाद बेचने पड़ रहे हैं। किसानों का मानना है कि इस बिल के पास होने किसानों को सिर्फ और सिर्फ नुकसान हो रहा है। इसीलिए वह चाहते हैं कि इन बिलो को वापस ले लिया जाए।

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *