सरकार शुरू करेगी 'पढ़ना लिखना अभियान' 2030 तक देश का हर आदमी होगा पढ़ा लिखा

2030 तक कुल साक्षरता के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सरकार अपनी नई योजना ‘पढ़ना लिखना अभियान’ शुरू करने जा रही है. केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि, ‘सरकार का ‘पढ़ना लिखना अभियान’ 2030 तक 100% साक्षरता के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए एक बड़ा कदम साबित होगा.

54वें अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस पर शिक्षा मंत्री ने कहा कि, ‘अभियान का मुख्य लक्ष्य 15 साल और उससे अधिक उम्र के शहरी और ग्रामीण दोनों क्षेत्र के 57 लाख अनपढ़ो को साक्षरता प्रदान करना है. उन्होंने कहा कि इस योजना में अधिकतर महिलाएं,अनुसूचित जनजाति, अल्पसंख्यक और दूसरे वंचित समूह शामिल हैं. इस योजना के तहत उन जिलों को प्राथमिकता दी जाएगी जहां वर्तमान जनसंख्या के अनुसार महिलाओं की साक्षरता दर 60% से नीचे है.

शिक्षा मंत्री पोखरियाल के अनुसार 2030 तक कुल साक्षरता के लक्ष्य को हासिल करने के लिए सरकार ‘पढ़ना लिखना अभियान पर पूरा जोर देगी. उन्होंने सभी राज्य सरकारों, बुद्धिजीवियों और नागरिकों से अपील की है कि सभी भारत को एक पूर्ण साक्षर समाज बनाने में हाथ बढ़ाएं, जिससे देश ‘साक्षर भारत-आत्मनिर्भर भारत’ बन पाए.

उन्होंने कहा कि साक्षरता हमारे देश के लिए प्रासंगिक है क्योंकि हमारी आबादी का बड़ा हिस्सा 35 साल से कम उम्र का है. हमें सोचना होगा कि युवाओं को शिक्षा और लाइफटाइम लर्निंग के दायरे में कैसे लाया जा सकता है.

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *