सरकार ने पेंशनर्स को दिया दिवाली गिफ्ट, शुरू की नई सर्विस, अब डाकिया घर आकर बनाएगा आपका जीवन प्रमाण पत्र

दिव्यांग व बुजुर्गों को जीवन प्रमाण पत्र बनवाने के लिए डाकघर जाने की जरूरत नहीं है. इंडियन पोस्टल पेमेंट बैंक घर पहुंच सुविधा दे रहा है. नजदीकी पोस्टमैन से संपर्क कर उसे सूचना देनी है. इसके बाद पोस्टमैन संबंधित व्यक्ति के घर पहुंचकर डिजीटल जीवन प्रमाण पत्र बनाएगा.

डाक विभाग और इलेक्ट्रॉनिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के इंडिया पोस्ट पेमेन्ट्स बैंक ने पेंशन कल्याण विभाग की पहल ‘डाकिये के माध्यम से डिजिटल जीवन प्रमाणपत्र (डीएलसी) जमा करने की शुरुआत माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नवंबर, 2014 में की थी.

केंद्र सरकार, राज्य सरकार और अन्य सरकारी संस्थाओं के पेंशनभोगी इस सेवा का लाभ उठा सकते हैं.

आप के बुलावे में डाकिया घर पर ही मात्र पांच मिनट में ही बायोमेट्रिक जीवन प्रमाण पत्र जारी कर देगा. इसके लिए मात्र 70 रुपये का ही भुगतान करना होगा.

आईपीपीबी के माध्यम से ‘डीएलसी जमा करने के लिए डोरस्टेप सर्विस’ का लाभ लेने के लिए पेंशनभोगी ippbonline.com पर विस्तृत जानकारी हासिल कर सकते हैं. कोविड-19 महामारी को देखते हुए पेंशनभोगियों के लिए घर बैठे जीवन प्रमाणपत्र जमा करने के संबंध में यह सेवा एक बड़ी राहत है.

Share this:

Leave a Comment