फोन में बैंकिंग ऐप का इस्तेमाल करते है तो जाये सावधान, रातो रात हो रहे है अकाउंट खाली

मोबाइल ऐप्स के जरिए यूजर्स के साथ धोखाधड़ी के मामले लगातार सामने आ रहे हैं. जिसके चलते एंड्रॉयड यूजर्स को एक बार फिर चेतावनी जारी करते हुए 23 मोबाइल ऐप्स को तुरंत हटाने की सलाह दी गई है. ये ऐप्स यूजर्स को पता तक नहीं लगने देते और उनका धीरे-धीरे अकाउंट खाली कर देते हैं. अगर आप भी एंड्रॉयड स्मार्टफोन यूज करते हैं तो कुछ ऐप्स इंस्टॉल करने से पहले अलर्ट रहना जरूरी है.

साइबर सिक्योरिटी और सॉफ्टवेयर फर्म Sophos के शोधकर्ताओं ने इन खतरनाक ऐप्स का खुलासा किया है. रिपोर्ट की मानें तो ये सभी फ्लेसवेय ऐप्स हैं और इन्होंने गूगल की पॉलिसी का भी उल्लंघन किया है.

भारतीय रिसर्चर जगदीश चंद्राइहा ने एक ब्लॉगपोस्ट में बताया कि गूगल में मिले इन ऐप के टर्म और फॉन्ट बहुत ही हल्के हैं जो पढ़ने में नहीं आते. हालांकि इसमें कुछ खामियां हैं जो कुछ खतरनाक कामों की अनुमति दे देते हैं. चंद्राइहा ने बताया कि फ्लेसवेयर एक प्रकार का मैलवेयर मोबाइल ऐप्लीकेशन है, जो छिपी हुई सब्सक्रिप्शन फीस के साथ आता है.

ये ऐप्लीकेशन उन यूजर्स का फायदा उठाते हैं, जो नहीं जानते कि ऐप हटाने के बाद उन्हें सब्सक्रिप्शन किस तरह कैंसिल करना है. ये ‘स्पैम सब्सक्रिप्शन’ तकनीक का उपयोग करते हैं. यूजर्स गलती से एक बार साइन अप करता है तो उसे अलग-अलग ऐप के एक समूह के लिए सब्सक्राइब करने का आप्शन आता है.

Share this:

Leave a Comment