इस्लामिक देशों में बढ़ी प्रधानमंत्री मोदी की लोकप्रियता, मुस्लिम वर्ल्ड में भी अलग-थलग पड़ा पाकिस्तान

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत की पैठ इस्लामिक देशों में काफी बढ़ी है। दुनियाभर में भारत की साख बढ़ने के साथ ही पहले से ही विश्व बिरादरी में अलग-थलग पाकिस्तान अब इस्लामिक देशों के बीच भी अकेला पड़ गया है। अब तो पाकिस्तान को सऊदी अरब के हाथों अपमानित भी होना पड़ा है। सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के विशेष दूत पाक सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा और आईएसआई प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल फैज हमीद से मिलने से साफ इनकार कर दिया।

मुस्लिम वर्ल्ड में पाकिस्तान की इतनी बेइज्जती कभी नहीं हुई थी। इस्लामिक देश अब भारत की जगह पाकिस्तान का साथ देने से कतराने लगे हैं।

पाकिस्तान इस्लामिक राष्ट्रों से अपने सबंधों के बल पर भारत को आंख दिखाता था, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने ईरान, यूएई और सऊदी अरब के साथ भारत के सामरिक रिश्तों को मजबूत किया। इन देशों के साथ प्रधानमंत्री मोदी ने भारत के रिश्तों को एक नया आयाम दिया। पाकिस्तान मान कर चल रहा था कि कश्मीर मुद्दे पर उसे मुस्लिम देशों का साथ मिलेगा लेकिन सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात और बहरीन जैसे प्रमुख देशों ने भी उसे झिड़क दिया।

आज कोई भी इस्लामिक राष्ट्र, जम्मू कश्मीर को लेकर भारत का विरोध नहीं करता और न ही पाकिस्तान का साथ देता है। इस तरह भारत ने इस समूह में पाकिस्तान को अलग कर दिया है।

ऑर्गनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कोऑपरेशन की वर्चुअल मीटिंग में पाकिस्तान ने भारत पर इस्लामोफोबिया को बढ़ावा देने का आरोप लगाया। पाकिस्तान के आरोपों का मालदीव करारा जवाब देते हुए OIC के सदस्य मालदीव ने साफ कहा कि दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र भारत में 20 करोड़ से ज्यादा मुस्लिम रहते हैं और भारत पर यह आरोप लगाना गलत होगा।

उसने यह भी साफ किया कि कुछ लोगों के बयानों और गलत जानकारी के लिए 130 करोड़ लोगों की भावना नहीं समझना चाहिए। मालदीव ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र और बहु-सांस्कृतिक समाज है। यहां 20 करोड़ से अधिक मुसलमान रह रहे हैं। ऐसे में इस्लामोफोबिया का आरोप लगाना तथ्यात्मक रूप से गलत होगा।

वही इस्लामिक देशों के बीच जहां पाकिस्तान अकेला पड़ता जा रहा है वहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की लोकप्रियता लगातार बढ़ती जा रही है। अब तक, छह मुस्लिम देशों ने प्रधानमंत्री मोदी को अपने सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार से सम्मानित किया है।

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *