संयुक्त किसान मोर्चे का ऐलान, जो किसान नेता चुनाव लड़ना चाहता है आंदोलन छोड़ दे

कृषि कानूनों के खिलाफ किसान मोर्चा की तरफ से किसान-मजदूर एकता महापंचायत का आयोजन किया गया। इस महापंचायत में ऐलान कर दिया गया कि अगर किसान आंदोलन से जुड़ा कोई भी किसान नेता या अन्य व्यक्ति इस आंदोलन की आड़ में कोई भी चुनाव लड़ने की इच्छा रखता है तो वह अभी से इस आंदोलन को छोड़ दे। चूंकि किसान मोर्चा सियासत से कोई लेन-देन नहीं रखता और न ही रखेगा।

पंजाब के किसी भी किसान संगठन से कोई भी नुमाइंदा चुनाव नहीं लड़ेगा।
यह एलान किसान नेता डा. दर्शनपाल ने मंच से किया तो वहां मौजूद अन्य किसान नेताओं ने भी इस पर सहमति जताई। राकेश टिकैत के बेरिकेड्स तोड़ने के बयान पर राजेवाल ने कहा कि टिकैत थोड़ा बढ़कर बोल देते हैं। ऐसा कुछ नहीं है। आंदोलन शांतिपूर्ण तरीके से जारी रहेगा।

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *