शुरू हुई पाकिस्तान की नीलामी, चीन की कम्पनी ने लगाई पहली बोली

भारत सरकार की तरफ से 59 ऐप को बंद करने और कारोबार से चीनी कंपनियों को हटाने से तिलमिलाए चीन को अब सहारा देने के लिए आर्थिक रूप से कर्जे के बोझ तले दबे उसका सदाबहार दोस्त पाकिस्तान सामने आया है। स्थानीय और छोटे कारोबारियों को बड़ा झटका देते हुए पाकिस्तान की इमरान खान सरकार ने चीन की कंपनियों को क्षेत्रीय कार्यालय खोलने की इजाजत देने का फैसला किया है।

चीनी कंपनियों के प्रतिनिधिमंडल के साथ एक बैठक के दौरान इमरान खान ने कहा, चीन की कम्पनीयों को भारत छोड़ पाकिस्तान आना चाहिए और अपना ऑफिस स्थापित करना चाहिए।” पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने चीनी निवेशकों को यह आश्वस्त किया कि उनकी सरकार चीनी निवेशकों को हरसंभव उच्च प्राथमिकता देगी।

पाक मिडिया के मुताबिक, यह फैसला ऐसे वक्त पर लिया गया है जब महामारी से बुरी तरह प्रभावित होने के चलते पाकिस्तान गंभीर अर्थव्यवस्था के साथ जूझ रहा है।

गौरतलब है कि हाल में सऊदी अरब ने पाकिस्तान से अपना सारा कर्जा वापिस मांग लिया है, इसलिए इमरान खान ने अब भीख मांगने की बजाये अपने देश को बेचना शुरू कर दिया है.

Share this:

Leave a Comment