एस जयशंकर की चीन को दी आखिरी नसीहत- बातचीत से विवाद नहीं सुलझा तो चीन से दुश्मनी

भारत और चीन में बॉर्डर पर चल रहे विवाद के बीच विदेश मंत्री एस जयशंकर का बड़ा बयान आया है. जयशंकर ने कहा कि सीमा विवाद को बातचीत से सुलझाना भारत के साथ-साथ चीन के लिए भी जरूरी है. उन्होंने आगे चीन को चेताते हुए कहा कि बॉर्डर पर तनाव रहेगा तो उसका असर रिश्तों पर पड़ना तय है.

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने यह बात अपनी एक ऑनलाइन इवेंट में कही. इसमें पड़ोसी देश चीन पर भी बात हुई. एस जयशंकर बोले, ‘दोनों देशों के लिए यह जरूरी है कि किसी समझौते पर पहुंचा जाए. जयशंकर ने आगे कहा कि वह इसके पक्ष में हैं कि यह काम बातचीत से होना चाहिए.

साथ ही वह बोले कि यह भी साफ है कि बॉर्डर पर जो कुछ होगा उसका असर समझौतों पर पड़ेगा ही. एस जयशंकर ने यह कंफर्म किया कि 10 सितंबर को वह रूस जाएंगे. वहां वह SCO यानि संघाई कॉर्पोरेशन ऑर्गेनाइजेशन में हिस्सा लेंगे. वहां चीन के विदेश मंत्री वांग यी भी होंगे. लद्दाख में हुए खूनी संघर्ष के बाद दोनों पहली बार आमने-सामने होंगे.

खबरों के मुताबिक, मॉस्को में विदेश मंत्रियों से पहले वहां रक्षा मंत्रियों की बैठक हो रही है. इसके लिए राजनाथ सिंह मॉस्को पहुंच चुके हैं. वहां चीन के रक्षा मंत्री वेई फेंग ने राजनाथ सिंह से मिलने की इच्छा जताई है. ऐसा माना जा रहा है कि वह लद्दाख विवाद पर बात करना चाहते हैं.

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *