लोन के ऊपर सरकार का बड़ा फैसला, मुश्किल में फंसे लोगों को मिल सकती है दो साल तक राहत, जानें- क्या है तरीका

लॉकडाउन से पैदा हुए आर्थिक संकट से कर्जदारों को राहत देने के लिए आरबीआई की ओर से घोषित ईएमआई चुकाने की अवधि 31 अगस्त को समाप्त हो गई है। अब आज से बैंकों के बकाया लोन की किस्तें कर्जदारों को तय समय पर चुकानी होंगी।

हालांकि अब भी ऐसे तमाम कर्जधारक हैं, जिनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है और रोजगार के अवसर छिनने के चलते परेशानी बढ़ गई है। ऐसे ग्राहकों को बैंकों की ओर से अब भी मोराटोरियम जैसी सुविधा मिल सकती है। ग्राहक यदि लोन की रीस्ट्रक्चरिंग चाहते हैं

तो फिर उन्हें इसके लिए बैंक को लिखना होगा। यानी कि यदि आप लोन रीपेमेंट करने की स्थिति में नहीं है तो आप बैंक को कांटेक्ट करके अपने लोन की रिस्ट्रक्चरिंग करवा सकते हैं। इसमें बैंक आपको यह सुविधा देगा कि आप अपने लोन की ईएमआई को कम किस्तों में भर सके। हालांकि ऐसा करने से ब्याज दर बढ़ सकता है।

Share this:

Leave a Comment