लद्दाख सेक्टर में भारतीय सेना का और बढ़ा दबदबा, 20 से ज्यादा रणनीतिक चोटियों पर नियंत्रण, राफेल भी तैयार

भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में सीमा पर तनाव के बीच भारत ने पैंगोंग झील के फ्रिक्शन पॉइंट्स के आसपास 20 से अधिक माउंटेन हाइट्स पर अपना दबदबा बना लिया है। सूत्रों के मुताबिक, भारतीय वायुसेना राफेल को भी सीमा से लगे इलाकों में चीनी सैनिकों पर हमला करने के लिए तैयार है।

भारत की यह आक्रामकता देखकर चीन भी सकते में है। इससे पहले भी चीन ने जब-जब घुसपैठ की कोशिश की भारतीय जवानों ने उल्टे पांव पीछे लौटने पर मजबूर कर दिया।

बता दे 10 सितंबर को अंबाला में हुए समारोह में पांच राफेल विमानों को वायुसेना के बेड़े में औपचारिक रूप से शामिल कर लिया गया है। इस मौके पर रक्षा मंत्री ने भी कहा था कि सीमाओं पर जिस तरह का माहौल बनाया जा रहा है, ऐसे में भारतीय अखंडता और संप्रभुता की रक्षा के लिए ये विमान बहुत कारगर हैं।

वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने भी कहा था कि इस समय राफेल का आना सुरक्षा कारणों से बहुत उपयोगी है।

इसके अलावा आज रात को ही राफेल सीमा के करीब उड़ान भरता नजर आया था। पूर्वी लद्दाख में IAF के विमान एलएसी के आसपास गश्त करते नजर आते हैं। इसी बीच एक बार फिर भारत और चीन के बीच कोर कमांडर स्तर की बतचीत होने जा रही है.

भारत ने इसमें भी चीन को घेर लेने का प्लान बना लिया है। इस बार बैठक में विदेश मंत्रालय के शीर्ष अधिकारी भी शामिल होने वाले हैं।

विदेश मंत्रीऔर रक्षा मंत्री ने SCO सम्मेलन के दौरान भी अपने समकक्षों से मुलाकात की थी और शांति स्थापित करने पर बात की। उस समय तो चीन राजी होता नजर आया लेकिन फिर भी अपनी हरकतों से बाज नहीं आया।

Share this:

Leave a Comment