लद्दाख में मिली मात तो तिब्बत राग अलापने लगा चीन, कहा- भारत की कार्रवाई के पीछे अमेरिका

लद्दाख में जारी सीमा विवाद के बीच चीन लगातार बयानबाजी कर रहा है। चीन की तरफ से इस मुद्दे पर भारत को आरोपी बताया जा रहा है। बीजिंग का कहना है कि सीमा पर स्थिति बिगाड़ने की पूरी जिम्मेदारी भारत की है। वहीं, चीन ने इस विवाद पर तिब्बत और अमेरिका के एंगल की भी बात रखी।

चीनी विदेश मंत्रालय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि भारत ने सीमा पर समझौते का उल्लंघन किया और वास्तविक नियंत्रण रेखा को पार कर वो इस ओर आ गया। लेकिन भारत ने चीन के इन आरोपों को सिरे से नकार दिया है।

चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता ने कहा कि शनिवार को हुई कार्रवाई का असल कसूरवार भारत था, उसने ही सीमा समझौते को तोड़ा और तनाव की स्थिति को पैदा किया। वही सीमा पर जारी तनाव की स्थिति को लेकर चीनी विदेश मंत्रालय ने भारत पर आरोप लगाते हुए कहा कि भारत लगातार सीमा पर स्थिति को बिगाड़ने में जुटा हुआ था। वर्तमान में जारी सीमा विवाद का पूरा जिम्मेदार भारत है।

इससे पहले, चीन के विदेश मंत्रालय ने लद्दाख की पेंगोंग त्सो झील के किनारे हुई झड़प पर अपना बयान जारी कर कहा था, ‘चीनी सैनिकों ने हमेशा वास्तविक नियंत्रण रेखा का कड़ाई से पालन किया है और कभी भी रेखा को पार नहीं किया है.

इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में जब चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता शुनयिंग से पूछा गया कि क्या भारतीय सैनिकों की मदद के लिए तिब्बती लोग भी आगे आए थे। इस पर प्रवक्ता आग बबूला हो गईं और संवाददाता से कहा कि इस सवाल का जवाब आपको भारत से पूछना चाहिए। उन्होंने कहा कि चीन को इस बात की स्पष्ट जानकारी है कि तिब्बती लोगों और अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए के बीच लंबे समय से संबंध रहे हैं। प्रवक्ता ने कहा कि चीन भारत के साथ-साथ उन सभी देशों का विरोध करता है, जो तिब्बती लोगों को अपने देश में शरण देते हैं।

Share this:

Leave a Comment