रूस ने भारत को S-400 मिसाइल देने के मामले में दिया बयान, जानें कब तक इस मिसाइल की पहली खेप आएगी भारत

चीन के साथ सीमा पर जारी विवाद के बीच भारत लगातार रूस से एस-400 मिसाइल को लाने का प्रयास कर रहा है। यदि भारत को यह मिसाइल मिल जाता है तो भारत के लिए यह सुरक्षा के ख्याल से बेहद महत्वपूर्ण होगा। बता दें कि यह मिसाइल भारत के पड़ोसी देश चीन के अलावा किसी दूसरे देश के पास नहीं है।

इस मिसाइल के होने से लंबी दूरी तक कोई लड़ाकू विमान या फिर मिसाइल हमला नहीं कर सकता है। रूस ने एक बयान में कहा कि वह सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइलें एस-400 की भारत को जल्दी आपूर्ति करने के लिए ‘कठोर मेहनत’ कर रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि दोनों देश कई अन्य सैन्य खरीद कार्यक्रमों पर भी काम कर रहे हैं।

इनमें भारत को एसयू-30 एमकेआई विमानों की पहली खेप की आपूर्ति शामिल है। आगामी एयरो-इंडिया कार्यक्रम में रूस अपनी सबसे बड़ी भागीदारी सुनिश्चित करना चाहता है।

इस कार्यक्रम को एशिया में सबसे बड़ी एयरोस्पेस प्रदर्शनी माना जाता है। यह प्रदर्शनी फरवरी में बेंगलुरु में होगी। उन्होंने कहा, ”इसमें हमारी रक्षा साझेदारी में नए विकास भी दिखेंगे।

Share this:

Leave a Comment