राहुल गांधी का मोदी सरकार से बड़ा सवाल, जवानों और अधिकारियों के खाने में अंतर क्यों? मिला यह जवाब उड़ गए राहुल के होश

रक्षा की संसदीय समिति की बैठक में राहुल गांधी ने सीडीएस बिपिन रावत से सवाल किया कि बॉर्डर क्षेत्र में जवानों और अधिकारियों के बीच खाने की क्वालिटी में अंतर क्यो हैं? राहुल गांधी ने कहा कि वेतन को रैंक से जोड़ा जा सकता है लेकिन आहार को नहीं।

राहुल गांधी ने कहा, “जवानों के आहार से समझौता न करें, जो ड्यूटी पर रहते हुए लंबे समय तक कठोर परिस्थितियों का सामना करते हैं। राहुल के इस सवाल के जवाब में जनरल बिपिन रावत ने रक्षा संसदीय पैनल को बताया कि जवानों और अधिकारियों को परोसे जाने वाले भोजन की गुणवत्ता या मात्रा में कोई अंतर नहीं है।

जनरल बिपिन रावत ने भोजन की अलग-अलग आदतों के उदाहरण देते हुए कहा कि, अधिकतर जवान गांव या कस्बों से आते हैं। उनके खाने में रोटी को प्राथमिकता दी जाती है, जबकि ऑफिसर शहर से आते हैं वे ब्रेड खाना अधिक पसंद करते हैं।

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *