राममंदिर निर्माण रोंकने के लिए कांग्रेस ने चली नई चाल, मंदिर में इस्तेमाल पत्थर पर लगाई रोक

अयोध्या में इस समय राम मंदिर निर्माण कार्य जारी है, लेकिन कांग्रेस पार्टी की ये आदत रही है की उसे देश में हो रहे हर अच्छे काम में रोड़ा अटकाना होता है. इसी कड़ी में राजस्थान की कांग्रेस सरकार के निर्णय के चलते निर्माण कार्य की रफ्तार पर असर पड़ सकता है। दरअसल, राम मंदिर निर्माण के लिए कई वर्षों से बंशी पहाड़पुर से जा रहे गुलाबी पत्थर पर राजस्थान सरकार ने रोक लगा दी है।

मंगलवार को भरतपुर जिला प्रशासन और पुलिस और वन विभागों की टीमों ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए अयोध्या जा रहे 25 ट्रकों को जब्त कर लिया है। राम मंदिर निर्माण के लिए जा रहे भरतपुर के बंशी पहाड़पुर के पत्थर राजस्थान सरकार ने हवाला दिया की इस पहाड़ में खनन करने के लिए सरकार की तरफ से फिलहाल किसी को भी स्वीकृति प्रदान नहीं की गयी है।

इसी के साथ एक बड़ा सवाल यह भी है की जब खनन करने की इजाजत सरकार की ओर से इस पहाड़ में किसी को भी प्रदान नहीं की गयी है तो फिर पिछले 50 सालो से आख़िरकार यहां से स्टोन माइनिंग क्यों होती रही है? क्योंकि बिना पुलिस, खनिज और वन विभाग के कर्मचारियों की मिलीभगत के तो यहां अवैध खनन के कारोबार का पनपना संभव नहीं था।

अयोध्या में बन रहे राम मंदिर निर्माण के लिए पत्थर काफी समय से जा रहा है। जबकि यहां कि पहाड़ियों में खनन करने के लिए किसी के पास कोई लीज नहीं है। फिर भी अवैध खनन के जरिये पत्थर यहां से निकलता रहा है।

Share this:

Leave a Comment