राजनाथ से ‎मिलने के बाद सीमा तनाव पर बोले चीनी रक्षामंत्री- पूरी जिम्मेदारी भारत की

भारत के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से मिलने के लिए मिन्नतें कर रहे चीन ने बाद में अपना रंग दिखा ही दिया. हमेशा की तरह इस बार भी चीन ने पहले बातचीत से मुद्दा सुलझाने का नाटक किया और फिर दो घंटे से ज्यादा चली बैठक के बाद पूरा जिम्मा भारत पर ही डाल दिया. वेई फेंघे ने कहा कि दोनों देशों और सेनाओं के बीच संबंध सीमा विवाद की वजह से प्रभावित हुए हैं और इसकी पूरी जिम्मेदारी भारत की है.

 चीनी रक्षामंत्री ने खुद राजनाथ से मिलने के लिए समय मांगा था.

दोनों नेता मॉस्को में एससीओ (शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन की बैठक में शामिल होने पहुंचे थे. चीन के रक्षा मंत्रालय मे बयान जारी कर कहा कि सीमा पर भारत और चीन के बीच मौजूदा तनाव की वजह और सच बहुत साफ है और जिम्मेदारी पूरी तरह से भारत की है. चीन अपने क्षेत्र को नहीं गंवा सकता है और चीनी सेना राष्ट्रीय संप्रभुता और अखंडता के लिए पूरी तरह से दृढ़, आत्मविश्वासी और काबिल है.

दोनों देशों को चेयरमैन जिनपिंग और पीएम मोदी की बनाई सहमति को लागू करना चाहिए और बातचीत से परेशानी सुलझानी चाहिए. चीन ने उम्मीद जताई है कि भारत दोनों देशों में किए गए समझौतों का पालन करेगा, फ्रंटलाइन बलों पर नियंत्रण मजबूत करेगा, एलएसी पर उकसावे से बचेगा, हालात गर्माने वाले ऐक्शन से बचेगा और जानबूझकर गलत जानकारी फैलाने से बचेगा. बयान में यह भी कहा गया है कि सीमा क्षेत्र में शांति और स्थिरता कायम हो.

चीनी रक्षा मंत्रालय ने उम्मीद जताई है कि दोनों देश फ्रंट लाइन बलों को जल्द से जल्द हटा लेंगे और हालात को और जटिल होने से रोकेंगे.

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *