ये है नरेन्द्र मोदी सरकार की नयी योजना पेट्रोल-डीजल पर नहीं करना होगा खर्च

देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए पीएम मोदी ने ‘वोकल फॉर लोकल’ का मंत्र दिया है. हालांकि चाइना से चल रहे सीमा टकराव के बाद सरकार ने दूसरे राष्ट्रों से आयात की बजाए हिंदुस्तान में विनिर्माण क्षेत्र में खुद के पैरों पर खड़े होने पर जोर दिया है. इसी कड़ी में सरकार सौर ऊर्जा से चलने वाली कारों को बनाने पर ध्यान केंद्रित कर रही है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार नरेन्द्र मोदी सरकार देश में सोलर कार निर्माण को बढ़ावा देने के लिए सब्सिडी देने पर विचार कर रही है. सोलर कार मैन्युफैक्चरिंग में देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए केन्द्र सरकार ने एक नयी नीति का खाका तैयार किया है, जिससे देश में सोलर कार निर्माण के ऑटोमोबाइल कंपनियों को आकर्षित किया जा सके.

नरेन्द्र मोदी सरकार के जो प्लान बनाया है उसके तहत ऑटो कंपनियों को टैक्स में छूट, सब्सिडी, सस्ता कर्ज़ व सस्ती जमीन मुहैया कराई जाएगी, जो सोलर कार निर्माण के लिए देश में प्लांट में दिलचस्पी दिखाएंगे. साथ ही अब इस क्षेत्र में बड़े स्तर पर रोजगार की संभावनाएं भी बढ़ गई है.

रिपोर्ट के मुताबिक हिंदुस्तान साल 2021 तक दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा यात्री वाहन मार्केट बन सकता है. ऐसे में सोलर एनर्जी के मार्केट को लेकर सरकार को बड़ी संभावनाएं दिख रही हैं. देश में फ़िलहाल Tata Motors, TVS Motors और Mahindra]जैसी ऑटोमोबाइल कंपनियों के पहले से ही सोलर प्लांट हैं.

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *