युवक ने महबूबा मुफ्ती के दफ्तर के आगे लहराया, जम्मू कश्मीर किसी के बाप की जागीर नहीं

जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने शुक्रवार 23 अक्टूबर को देशविरोधी बयान देते हुए कहा था कि मैं तिरंगे का सम्मान तबतक नहीं करूंगी जबतक मुझे मेरा कश्मीरी झंडा मिल नहीं जाता, महबूबा मुफ्ती के इस बयान के बाद शनिवार 24 अक्टूबर को जम्मू के कुछ सिख युवकों ने महबूबा मुफ़्ती की पार्टी के दफ्तर पर तिरंगा फहरा दिया।

अपने साथियों संग पीडीपी के दफ्तर पर तिरंगा लहराने वाले सिख युवक अमनदीप सिंह बोपाराय ने ट्वीट कर कहा कि जम्मू कश्मीर किसी के बाप की जागीर नहीं है, उन्होंने पीडीपी के दफ्तर पर तिरंगा फहराते हुए तस्वीर भी अपने ट्विटर पर शेयर की है.

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *