भारत से तनाव के बीच चीन का ये कदम हो सकता है खतरे की घंटी, नेपाल भी इसमें शामिल

लद्दाख में LAC पर भारत से सीमा तनाव के बीच चीन ने नेपाल से लेकर तिब्बत तक रेल लाइन बिछाने का काम शुरू कर दिया है । भारत के लिए ये रेल लाइन सामरिक दृष्टि से बहुत ही खतरनाक मानी जा रही है ।BRI के तहत तैयार हो रही 72 किलोमीटर लंबी ये रेल लाइन तिब्बत से लेकर काठमांडू होकर लुंबिनी तक जाएगी । बता दे ये जगह भारतीय सीमा के बेहद करीब है, इसी वजह से चीन का ये कदम देश के बड़ा खतरा पैदा कर सकता है।

मिली जानकारी के अनुसार भारत के साथ तनाव बढ़ता देख, इस काम में तेजी लाई गई है । इतना ही नहीं चीन की ओर से इस रेलवे सौदे में अब और ज्यादा पैसा लगाने का फैसला लिया गया है । यहां आपको बता दें कि BRI के तहत चीन न्‍यू सिल्क रोड प्लान पर काम कर रहा है, इसके तहत उसने कई देशों में इन्फ्रास्ट्रक्चर के विकास के लिए सौदे किए हैं । पाकिस्तान के साथ बन रहा इकॉनोमिक कॉरिडोर यानी कि CPEC भी इसी प्‍लान का ही हिस्सा है।

पता नहीं क्यू लेकिन लंबे समय से लटके हुए नेपाल से तिब्बत के बीच रेल लिंक को अब तेजी से पूरा करना चीन की प्राथमिकता नजर आ रही है ।

रक्षा विशेषज्ञों के अनुसर BRI के तहत बन रहे प्रोजेक्ट्स भारत के लिए पहले से ही खतरा बने हुए है, लेकिन ये नेपाल टू तिब्‍बत का रेल कॉरिडोर सामरिक दृष्टि से काफी खतरनाक माना जा रहा है । BRI के तहत बन रही ये 72 किमी रेलवे लाइन तिब्बत से काठमांडू होकर लुंबिनी तक जाएगी,

ये स्‍थान भारतीय सीमा के करीब है । यहां पर नेपाल चीन और भारत के बीच का बफर जोन भी है.

वही, अब तो भारत-चीन सीमा विवाद के बीच नेपाल ने भी अपने तीखे तेवर दिखाने शुरू कर दिए है, पिछले दिनों ही नेपाल ने लिपुलेख में सेना की एक बड़ी टुकड़ी तैनात कर दी।

Share this:

Leave a Comment