भारत-चीन की भिड़ंत से दहशत में पाकिस्तान, इमरान उधारी में मांग रहे हैं मिसाइल और विमान

भारत की बढ़ती ताकत और आक्रामक रुख से सिर्फ चीन ही चकित नहीं है, बल्कि पाकिस्तान भी परेशान है। हिंदुस्तान से इमरान की नापाक फौज इतना घबराई हुई है कि चीन से मिसाइलों और लड़ाकू विमानों आपातकाल में उधारी में मांग रही है। LAC पर भारत की ताकत देखने के बाद पाकिस्तान के होश उड़ चुके हैं।

भारतीय जाबांजों ने एलएसी पर जब से चीन को पीछे धकेला है, तब से पाकिस्तान सहमा हुआ है।

छिपकर वार करने वाली पाक फौज डरी हुई है। यही वजह है कि वो अपनी सैन्य ताकत बढ़ाने के लिए चीन से पैसो के बाद हथियार उधारी पर मांग रही है। बावजा चीन से जे-10 फाइटर जेट लेने की मांग कर चूका है। इसके अलावा वो पीएल-10 और पीएल-15 मिसाइल भी खरीदेगालेना चाहते है।

गलवान में चीन से भिड़ंत के बाद भारत लगातार अपनी सैन्य ताकत को मजबूत कर रहा है। भारत ने ना सिर्फ फ्रांस से 5 राफेल फाइटर जेट मंगा लिए, बल्कि रूस को 33 फाइटर जेट का ऑर्डर दे दिया है। इसमें 12 सुखोई 30 फाइटर जेट हैं, जबकिएडवांस 21 मिग-29 विमान है।

पाकिस्तान ये भी दावा कर रहा है कि जे-10 पाने के बाद एयर अटैक के मामले में वो बहुत ही स्‍ट्रांग हो जाएगा। इमरान के जनरल का कहना है कि ये लड़ाकू विमान राफेल पर भारी पड़ेगा।

आइये आपको बताते है चीनी जे-10 और राफेल में कौन हैं ताकतवर

राफेल मल्टी रोल फाइटर जेट है।

जबकि जे-10 स्टील्थ जेट है।

राफेल की मारक क्षमता 3 हजार 700 किमी. है।

वहीं जे-10 की रेंज सिर्फ 1 हजार 850 किमी. है।

राफेल करीब 25 हजार किलो का गोला बारूद लेकर उड़ सकता है।

जबकि जे-10 सिर्फ 19 हजार किलो का भार लेकर जा सकता है।

ऐसी तमाम चीजें हैं, जिससे जे-10 राफेल के मुकाबले फिसड्डी है।

जाहिर है पाकिस्तान भले ही डींगे हांक ले, लेकिन हकीकत ये है कि राफेल ने उसकी नींद उड़ा रखी है। वो उसकी काट ढूंढ रहा है, लेकिन कामयाब नहीं हो पा रहा है

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *