बड़ा खुलासा मोदी सरकार ने राम मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट को दिया है इतना पैसा

जब से देश के सर्वोच्च न्यायालय ने रामलला विराजमान के पक्ष में फैसला सुनाया और अयोध्या में दशकों से चले आ रहे भूमि विवाद को समाप्त कर राम मंदिर के निर्माण की अनुमति दी, तभी से राम मंदिर के निर्माण में उपयोग किए जाने वाले पैसे को लेकर कई तरह की अफवाहें फैलाई जा रही है।

5 अगस्त 2020 को राम मंदिर भूमि पूजन समारोह के आसपास, कुछ लोग, जो राम मंदिर के निर्माण के खिलाफ हैं, उन्होंने आरोप लगाया कि भारत सरकार भूमि पूजन और राम मंदिर निर्माण पर टैक्स भरने वाले लोगो का पैसा खर्च कर रही है।

दोस्तों बता दे की भारत सरकार ने वास्तव में राम मंदिर के निर्माण के लिए धन दान दिया है वो भी सिर्फ एक रुपए दान. दरअसल केंद्र सरकार ने ट्रस्ट के गठन के बाद किया था। इस पहले दान के बाद, निर्माण के लिए केंद्र सरकार द्वारा कोई पैसा नहीं दिया गया है।

वही मार्च 2020 में, उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने राम मंदिर के निर्माण के लिए 11 लाख रुपए का दान दिया था। हालाँकि, यह धनराशि उन्होंने अपनी बचत में से दान की थी, न कि यूपी सरकार के फंड से। योगी आदित्यनाथ द्वारा राम मंदिर ट्रस्ट को दिया गया चेक सोशल मीडिया पर भी शेयर किया गया था।

वही खोजबीन में पाया गया कि केंद्र सरकार द्वारा शुरुआती दान 1 रुपए के अलावा, केंद्र सरकार ने भूमि पूजन या राम मंदिर निर्माण पर एक पैसा भी खर्च नहीं किया है। सोशल मीडिया यूजर्स द्वारा किए गए दावे नकली हैं। राम मंदिर ट्रस्ट, अभी तक दान के माध्यम से दुनिया भर के राम भक्तों से पैसा इकट्ठा कर रहा है।

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *