प्राइवेट नौकरी करने वालों के लिए सरकार जल्द कर सकती है बड़ा ऐलान, स्कीम में होगा बदलाव

केंद्र सरकार ने आज 41 लाख इंडस्ट्रियल वर्कर्स को ESIC स्कीम के जरिए लाभ देने के ​लिए नियमों में ढील दी है. कोरोना वायरस महामारी की वजह से नौकरी जाने वालों के ​लिए यह ढील 24 मार्च से 31 दिसंबर 2020 तक के लिए लागू होगा. इस प्रस्ताव को एम्प्लॉई स्टेट इंश्योरेंस कॉरपोरेशन (ESIC) बोर्ड ने मंजूरी दी, जिसकी अध्यक्षता केंद्रीय श्रम मंत्री संतोष गंगवार कर रहे थे.

जानिए क्या है ईएसआईसी स्कीम? प्रति महीने 21,000 रुपये या इससे कम सैलरी प्राप्त करने वाले इंडस्ट्रियल वर्कर्स ESIC स्कीम के अंतर्गत आते हैं. हर महीने उनकी सैलरी का एक हिस्सा कटता है, जिसे ESIC के मेडिकल बेनिफिट के तौर पर डिपॉजिट किया जाता है. वर्कर्स की सैलरी से हर महीने 0.75 फीसदी और नियोक्ता की तरफ से 3.25 फीसदी प्रतिमाह ESIC में जमा होता है.

बोर्ड के फैसले के बाद, नौकरी जाने की तारीख के 30 दिन बाद से ही इस रकम के लिए क्लेम किया जा सकेगा.

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *