पाकिस्तान को बड़ा झटकाः अमेरिका-भारत और सऊदी हुए एक, इमरान को अब सिर्फ चीन का सहारा

चीन के उकसावे में अपनी हदों को तोड़ रहा पाकिस्तान अब नई मुसीबत में फंस गया है। चीन को खुश करने के चक्कर में पाकिस्तान के पड़ोसी देशों के अलावा अमेरिका जैसे देश से संबंध भी बिगड़ चुके हैं। यही वजह है कि सऊदी अरब से झटका मिलने के बाद अमेरिका ने भी पाकिस्तान से किनारा करना शुरू कर दिया है। पाकिस्तान के पास अब उसे कर्जे से उबारने के लिए एक ही दोस्त बचा है चीन।

जानकारों के मुताबिक दुनिया के तेजी से बदलती दोस्ती में जहां अमेरिका, भारत और सऊदी अरब एक पाले में आ गए हैं, वहीं पाकिस्तान अमेरिका से दूर और चीन के करीब होता गया है।

हालांकि पाकिस्तान को चीन से उतनी मदद नहीं मिल पा रही है जितनी अमेरिका से मिलती थी। पाकिस्तान की रक्षा प्रवक्ता आयशा सिद्दीका ने एक इंटरव्यू में कहा कि अमेरिका के साथ संबंधों में आई गिरावट के बाद पाकिस्तान के लिए अब चीन ही एकमात्र सहारा बचा है, जो उसे आर्थिक के साथ अन्य क्षेत्रों में मदद दे सकता है।

सिद्दीका ने कहा अब जहां अमेरिका, भारत और सऊदी अरब का एक संगठन बनता नजर आ रहा है जो इमरान खान सरकार पर भारी पड़ सकता है वहीं पाकिस्तान को मजबूरन चीन, रूस और ईरान का साथ देना होगा।

अमेरिका के साथ संबंधों में आई गिरावट का एक अन्य कारण यह भी है कि पाकिस्तान अपनी जमीन पर पनप रहे आतंकी संगठनों के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई नहीं कर पाया।

इन संगठनों के तार दुनिया भर में फैले आतंकी गुटों से जुड़े पाए गए। नतीजा यह रहा कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान की छवि बिगड़ती चली गई। आयशा ने कहा, कि पाकिस्तान अगर अपने पड़ोसी देश-भारत, ईरान और अफगानिस्तान से संबंध सुधारे तो कुछ वर्षो में उसकी स्थिति में परिवर्तन हो सकता है।

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *