पड़ोसी देशों में काफी सस्ता मिल रहा है पेट्रोल, लेकिन फिर भी भारत में आसमान छू रहे दाम, जानिए ऐसा क्यों

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत में कमी के बावजूद हमारे देश में पेट्रोल-डीजल की कीमत कम नहीं हो रही। ग्राहक पेट्रोल व डीजल के बेस प्राइस का लगभग तीन गुना ज्यादा देते हैं। गौरतलब है कि नेपाल में जो तेल जाता है, उसकी आपूर्ति पूरी तरह भारत से ही की जाती है, तब भी वहां तेल भारत से सस्ता है। दरअसल भारत में तेल पर केंद्र और राज्य सरकारों के विभिन्न तरह के टैक्स बहुत ज्यादा हैं।गौरतलब है कि बजट में पेट्रोल और डीजल पर कृष‍ि सेस लगा दिया गया है, लेकिन सरकार का कहना है कि इसका आम उपभोक्ता पर असर नहीं होगा. हालांकि ऐसा होते दिख नहीं रहा। वहीं इसी के साथ घरेलू गैस सिलेंडर के दामों में भी बढ़ोतरी हुई है।

साथ ही ग्राहकों से तेल पर सेस भी वसूला जाता है। इसी वजह से हमारे देश में तेल के दाम इतने ज्यादा हैं। हम जिस तेल का मूल्य 84 रुपये प्रति लीटर दे रहे हैं, उसकी मूल कीमत 26 से 27 रुपये प्रति लीटर है। वहीं नेपाल में तेल पर टैक्स भारत की तुलना में काफी कम है। अब ना जाने भारत में टैक्स रहित तेल कब मिलेगा और कब पेट्रोल डीजल के दम कम होते दिखेंगे।

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *