भारत की इस चीज के दीवाने हैं चीनी, सबसे ज्यादा निर्यात होता है चीन को

दुनिया भर के बाजार में अपने सामान बेचने वाला चीन भारत की एक वस्तु के लिए पलक बिछाये रहता है। वह है भारत की समुद्री झींगा मछली तथा कुछ अन्य समुद्री खाद्य पदार्थ। चीनियों को भारत का सी फूड इतना पसंद आता है कि वह इसके लिए 30 फीसदी एडवांस दे देता है, और जैसे ही माल उसके यहां पहुंचता है, 100 फीसदी पेमेंट हो जाता है।

इसके उलट अमेरिका या यूरोपीय देशों में इसे उधारी पर भेजा जाता है। यही वजह है कि अभी भारत से सी फूड का सबसे ज्यादा निर्यात चीन को ही होता है। मरीन प्रोडक्ट्स एक्सपोर्ट डेवलपमेंट अथारिटी के अध्यक्ष के. एस. श्रीनिवास का कहना है कि यूं तो वर्ष 2019-20 के दौरान सी फूड का उतना निर्यात नहीं हो पाया, जितना कि इससे एक वर्ष पहले हुआ था।

लेकिन अच्छी बात यह रही है कि चीन में हमारा निर्यात वर्ष 2019-20 के दौरान देश से कुल 6,52,253 टन सी फूड का निर्यात हुआ। इसमें से 3,29,497 टन सीफूड सिर्फ चीन को गया। यह भारत के कुल निर्यात का 25.55 फीसदी है। इसके बाद अमेरिका का नंबर आता है।

बीते एक साल के दौरान चीन को भेजे जाने वाले सी फूड की मात्रा में 46.10 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। अध्यक्ष मोहित सिंगला का कहना है कि सी फूड के निर्यात में चीन हमारा अच्छा ग्राहक है। वहां किये जाने निर्यात के बदले भारतीय निर्यातकों को एडवांस में 30 फीसदी राशि मिल जाती है। जैसे ही हमारा माल वहां के बंदरगाह पर उतर गया, शेष 70 फीसदी राशि का भी भुगतान हो जाता है। दूसरी ओर यदि हम किसी अन्य देश, यहां तक कि अमेरिका या यूरोपीय देश में भी सी फूड भेजते हैं, तो वहां उधारी यानी कि लेटर आफ क्रेडिट पर माल भेजा जाता है।

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *