नेपाल का चीन को झटका, भारत को रेल परियोजना के लिए दी हरी झंडी

चीन को झटका देते हुए नेपाल ने शुक्रवार को भारत से काठमांडू तक की फास्ट ट्रैक रेलमार्ग परियोजना को स्वीकृति दे दी। इस प्रस्ताव को चीन के तिब्बत से काठमांडू को जोड़ने वाले प्रस्ताव की अनदेखी कर स्वीकृति दी गई है। चीन ने नेपाल की राजधानी काठमांडू तक रेललाइन बिछाने का प्रस्ताव दिया था।

नेपाल के ताजा फैसले से चीन की कोशिशों को झटका लगा है। विशेषज्ञों का मानना है कि काठमांडू के रेललाइन से संपर्क के खास रणनीतिक मायने हैं, इससे भारत और नेपाल का रक्षा सहयोग और मजबूत होगा। बता दे भारत के रेलवे ट्रैक पर चीन की रेल नहीं दौड़ पाएगी।

नेपाल की राजधानी से रेल संपर्क कायम होने से जरूरत पड़ने पर भारत वहां जल्दी सैनिक और हथियार भेज सकेगा, इसलिए इसका महत्व और बढ़ गया है। वही नेपाल में चीन समर्थक माने जाने रक्षा मंत्री को हटाकर मंत्रालय का कार्यभार प्रधानमंत्री ने खुद अपने पास कर लिया.

अब नेपाल के विदेश मंत्री प्रदीप कुमार ज्ञावली भारत आ रहे हैं। माना जा रहा है कि ज्ञावली के दौरे से दोनों देशों के बीच गर्मजोशी का वातावरण और बेहतर होगा।

Share this:

Leave a Comment