छठ पूजा पर सरकार ने जारी किए दिशा-निर्देश, न मेला लगेगा न सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे

कोरोना संक्रमण को देखते हुए रविवार को छठ महापर्व को लेकर गृह विभाग ने दिशा-निर्देश जारी किया है। इसके तहत लोगों को घरों पर ही महापर्व के आयोजन के लिए प्रेरित किया जाएगा। लोगों को सलाह दी गई है कि वह नदियों के बजाए घरों पर ही अर्घ्य दें। इस बार छठ के अवसर पर न मेला लगेगा ना ही जागरण और सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित होंगे।

दिशा-निर्देश के मुताबिक गंगा नदी समेत अन्य महत्वपूर्ण नदियों के किनारे घाटों पर छठ महापर्व के दौरान अत्यधिक भीड़ होती है। ऐसे में सामाजिक दूरी का पालन करा पाना कठिन है। अत: लोगों को घरों पर ही छठ पूजा करने के लिए प्ररित किया जाए। गृह विभाग ने नदियों के साथ तालाब पर कोरोना के संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए छठ पर्व के दौरान सुबह व शाम दिए जानेवाले अर्घ्य को घर पर ही करने की सलाह भी देने को कहा है।

वही गृह विभाग ने निर्देश दिया है कि इन घाटों पर अर्घ्य के पहले और बाद सैनेटाइजेशन का कार्य नगर निकाय और ग्राम पंचायत द्वारा कराया जाए। यहां मास्क का प्रयोग और सोशल डिस्टेंसिंग के मानकों का पालन कराने के निर्देश दिए गए हैं।

गृह विभाग ने सलाह दी है कि तलाब में अर्घ्य के दौरान डुबकी न लें। लोगों को डुबकी लगाने से रोकने के लिए बैरिकेडिंग करने को कहा गया है। साथ ही घाटों के आसपास खाद्य पदार्थ का स्टॉल नहीं लगाया जाएगा। कोई सामाजिक भोज, प्रसाद या भोग का वितरण नहीं किया जाएगा।

गृह विभाग ने सलाह दी है कि 60 वर्ष से ऊपर के व्यक्ति और 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चे छठ घाट पर न जाएं।

 

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *