चीन ने भारत को दी आखिरी चेतावनी- युद्ध हुआ तो होगी करारी हार, नहीं काम आएगी अमेरिका की दोस्ती

भारतीय और चीनी रक्षा मंत्रियों के बीच शुक्रवार की बैठक को एक सकारात्मक कदम करार देते हुए चीनी मीडिया ने शनिवार को कहा कि सीमा युद्ध की स्थिति में भारत के पास जीतने का कोई मौका नहीं होगा। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के साथ जुड़े ग्लोबल टाइम्स ने शनिवार को संपादकीय में कहा..

हम भारतीय पक्ष को याद दिला रहे हैं कि चीन की राष्ट्रीय ताकत, जिसमें उसकी सैन्य ताकत भी शामिल है, भारत की तुलना में अधिक मजबूत है। हालांकि चीन और भारत दोनों महान शक्तियां हैं, मगर जब युद्धक क्षमता की बात आती है, तो भारतीय पक्ष हार जाएगा। यदि एक सीमा युद्ध शुरू होता है, तो भारत के पास जीतने का कोई मौका नहीं होगा।

संपादकीय में कहा गया है, हमें उम्मीद है कि रक्षा मंत्रियों की बैठक दोनों देशों के नेताओं की बैठक की सर्वसम्मति पर वापस आने के लिए एक महत्वपूर्ण मोड़ होगी। भारत अब सीमा पर तनाव को कम करने के लिए अपना उचित प्रयास करेगा।

ग्लोबल टाइम्स ने कहा, भारत की जनता बहुत गहराई से और व्यापक रूप से सीमा के मुद्दों में शामिल है। भारतीय सैनिकों का स्पष्ट रूप से घरेलू राष्ट्रवाद द्वारा अपहरण कर लिया गया है। इसलिए, चीन और भारत के बीच सीमा विवाद से मोदी गवेंमेन्ट अपने के देश के लोगों को मुर्ख बनाने का सबसे अच्छा विकल्प मिल गया है।

ग्लोबल टाइम्स ने कहा कि तथ्य यह है कि दो रक्षा मंत्री आमने-सामने बैठे हैं, यह अपने आप में एक सकारात्मक संकेत है चीनी अखबार के संपादकीय में कहा गया है, चीनी स्टेट काउंसलर और विदेश मंत्री वेई फेंघे और भारतीय विदेश मंत्री सुब्रह्मण्यम जयशंकर भी 10 सितंबर को मिलने की योजना बना रहे हैं।

चीनी अखबार ने अमेरिका की ओर से भारत के प्रति समर्थन जताए जाने का भी मजाक उड़ाया। और कहा, नई दिल्ली के कुछ लोगों का यह भी मानना है कि अमेरिका के चीन के प्रति दमन और भारत के प्रति समर्थन ने भारत की सामरिक ताकत को बढ़ा दिया है। चीनी अखबार ने इसे एक गलत अनुमान करार दिया है। और कहा की अमेरिका अपने हथियार बेचने के लिए इस विदाद को हवा दे रहा है.

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *