चीन ने अगले अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन को बधाई देने से इनकार किया

चीन ने अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में विजेता के रूप में जो बाइडन को बधाई देने से इनकार कर दिया और कहा कि अमेरिकी चुनाव का परिणाम देश के कानूनों एवं प्रक्रियाओं से निर्धारित होना चाहिए।

चीन ने तीन नवंबर को हुए अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में बाइडन और कमला हैरिस की जीत पर अब तक कोई आधिकारिक प्रतिक्रिया नहीं दी है.

यह पूछे जाने पर कि चीन उन कुछ देशों में शामिल है जिन्होंने अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव के परिणाम पर बयान नहीं दिया है, विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने कहा, ‘हमने देखा है कि बाइडन ने घोषणा की है कि वह चुनाव के विजेता हैं।’ उन्होंने कहा, ‘हमारा मानना यह है कि अमेरिकी कानून व प्रक्रियाओं के तहत चुनाव के नतीजों का निर्धारण होगा।’

वांग ने कहा, ‘हम अंतरराष्ट्रीय परंपरा का पालन करेंगे।’ रूस और मेक्सिको सहित चीन उन चुनिंदा प्रमुख राष्ट्रों में से एक है जिन्होंने राष्ट्रपति-निर्वाचित को बधाई नहीं दी है।

चीन और अमेरिका के बीच तनाव चरम पर है। चीन के विस्तारवादी प्रयासों के खिलाफ अमेरिका ने बड़े पैमाने पर सैन्यीकरण किया है। ऐसे में बाइडेन प्रशासन के सामने सबसे बड़ी चुनौती चीन को लेकर ही होगी।

जो बाइडेन उत्तर कोरिया के साथ अमेरिकी संबंधों के शुरू से खिलाफ रहे हैं। अपने प्रचार अभियान के दौरान भी उन्होंने किम जोंग उन को कसाई और ठग कहा था। माना जा रहा है कि जो बाइडेन अपने कार्यकाल के दौरान उत्तर कोरिया के खिलाफ कड़े प्रतिबंधों का ऐलान कर सकते हैं।

डोनाल्ड ट्रंप की तुलना में जो बाइडेन के कार्यकाल में ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के साथ अमेरिका के संबंध और मजबूत होने की उम्मीद है। ट्रंप की तुलना में जो बाइडेन ऑस्ट्रेलियाई स्टील और एल्यूमीनियम कंपनियों को टैरिफ में छूट देंगे।

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *