चीन के बाद अब जापान बढ़ा सकता है चिंता, भारत में गंभीर बीमारियों का खतरा बढ़ेगा

चीन से निकले कोरोना वायरस से अब तक दुनिया के 200 से ज्यादा देश जूझ रहे हैं. शायद ही कोई देश या प्रांत है, जो इस खतरनाक वायरस की चपेट में आने से बचा हो. अब तक करीब 13.50 लाख लोगों की जान जा चुकी है. अब जापान एक ऐसा घातक कदम उठाने की तैयारी में है, जिससे न सिर्फ भारत बल्कि पूरे एशिया की चिंता बढ़ सकती है.

जापान ने फैसला किया है कि परमाणु संयंत्र से रेडियोधर्मी दूषित जल को समुद्र के पानी में छोड़ा जाएगा. जापान के इस फैसले से भारत में चिंताएं बढ़ गईं हैं. विशेषज्ञों ने आगाह किया है कि इससे एक गलत चलन की शुरुआत होगी और दुनियाभर के विभिन्न भागों के तटीय क्षेत्रों में जलीय जीवों तथा मानव जीवन पर प्रभाव पड़ेगा.

इसकी चपेट में आने वाली कोई भी चीज लगभग तुरंत ही बर्बाद हो जाएगी. साथ ही यह कैंसर समेत कई बीमारियां भी पैदा कर सकता है. भारत के रक्षा अनुसंधान विकास संगठन (डीआरडीओ) के स्वास्थ्य विज्ञान महानिदेशक ए के सिंह ने कहा..

ऐसा पहली बार होगा जब इतनी भारी मात्रा में समुद्र में रेडियोधर्मी जल छोड़ा जाएगा. इससे एक गलत चलन शुरू हो जाएगा और अन्य भी ऐसा करने लगेंगे.

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *