चीन की नापाक हरकत, भगवान शिव के निवास स्थान पर लगाई मिसाइलें

भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा पर तनाव आये दिन बढ़ता ही जा रहा है। दोनों देशों की सेनाएं पूर्वी लद्दाख में आमने-सामने खड़ी हैं। कमांडर स्तर की वार्ता और राजनयिक स्तर पर चल रही बातचीत के बावजूद चीन अपनी आदत से बाज नहीं आ रहा है और लगातार उकसावे वाली हरकतें कर रहा है।

एलएसी पर सैन्य गतिविधियों में बढ़ोतरी करने के बाद अब चीन ने कैलाश-मानसरोवर के पास मौजूद एक झील के पास जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइल को तैनात किया है। चीनी अखबार में छपी एक खबर के अनुसार मिसाइल की तैनाती चीन की ओर से जारी आक्रामक उकसावे का हिस्सा है, जिससे दोनों देशों के बीच सीमा विवाद और जटिल हो सकता है। कैलाश पर्वत और मानसरोवर झील,

जिसे आमतौर पर कैलाश-मानसरोवर स्थल के रूप में जाना जाता है, हिन्दुओ के लिए चार धर्मों द्वारा पूजनीय है और भारत में सांस्कृति और आध्यात्मिक शास्त्रों से जुड़ा हुआ है। हिंदू इस स्थल को शिव और माता पार्वती का निवास मानते हैं। भारत द्वारा एलएसी पर पीछे हटने से इंकार करने के बाद चीन ने जानभूझकर इस मिसाइल को उस पवित्र स्थल पर लगाया गया है, जिससे हिंदुस्तान के लोगो की आस्था जुडी है. ताकि भारतीय सेना को पीछे हटने पर मजबूर किया जा सके.

अमेरिकी थिंक टैंक मुताबिक यह भारत के खिलाफ चीन की उकसावे की कार्रवाई का ही एक हिस्सा है, जो एलएसी पर लद्दाख से पूर्वी और मध्य सेक्टर में दिख रहा है।’ उन्होंने आगे कहा, कैलाश-मानसरोवर में जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइल की तैनाती से हैरानी नहीं होनी चाहिए।

यह भारत को उकसाने के लिए है, डायरेक्टर माइक ने कहा कि चीन धर्म और संस्कृति में विश्वास और सम्मान नहीं करता है। हमें यह ध्यान रखना चाहिए कि वे किसी धर्म को नहीं मानते हैं। उनका मानना है कि धर्म जनता की अफीम है.

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *