चीनी वैज्ञानिकों का रिसर्च में दावा, कोरोना वायरस की शुरुआत भारत में हुई और फिर ये पूरी दुनिया में फैला

कोरोना वायरस के लिए दुनिया भर के देशों से आलोचना झेल रहा चीन अब इसे लेकर भ्रम फैलाने की कोशिश में जुटा है। दरअसल, कुछ चीन शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि कोरोना वायरस की शुरुआत भारत में हुई और फिर ये पूरी दुनिया में फैला। इससे कुछ दिन पहले चीन की सरकार ने कहा था वुहान से फैली ये बीमारी इटली और अन्य देशों में पहले ही फैल चुकी थी।

रिपोर्ट के अनुसार चाइनीच एकेडमी ऑफ साइंसेस के वैज्ञानिकों की एक टीम ने ये कहा है कि संभवत: भारत में पिछले साल 2019 की गर्मियों में कोरोना वायरस की शुरुआत हुई। इनके अनुसार ये दूषित पानी की वजह से जानवरों से इंसानों में आया होगा और फिर ये वुहान पहुंच गया होगा, जहां पहली बार इसकी पहचान की गई।

वही चीन की ओर से ये दावे उस समय किए जा रहे हैं जब भारत के साथ उसके रिश्ते तनावपूर्ण हैं। इससे पहले चीन कोरोना वायरस के इटली और अमेरिका तक में शुरू होने के दावे कर चुका है। चीनी वैज्ञानिक अपनी इस रिसर्च में ये भी कहते हैं कि मई से जून 2019 तक भारत-पाकिस्तान में काफी गर्मी थी और क्षेत्र में पानी की कमी हुई होगी।

इससे जंगली जानवरों जैसे बंदर पानी के लिए एक-दूसरे से लड़े होंगे और इससे मानवों के साथ उनका संपर्क भी हुआ होगा। इस असामान्‍य गर्मी के बीच इंसान और जानवरों के लिए पानी के एक ही स्रोत होंगे। यही से जानवरों से इंसानों में कोरोना गया होगा।

चीनी वैज्ञानिक ये भी दावा करते हैं कि भारत के खराब स्‍वास्‍थ्‍य स‍िस्‍टम और युवा आबादी की वजह से यह बीमारी कई महीनों तक बिना पहचान के फैलती रही।

Share this:

Leave a Comment