चाइनीज फोन चलाने वालों की बढ़ी परेशानी, मोबाइल हुए खराब तो ठीक कराना होगा मुश्किल

भारत में बायकॉट चाइना की मुहिम चल रही है। लोग एक दूसरे को चीनी ब्रांड्स के स्मार्टफोन को न खरीदने की सलाह दे रहे हैं। चीन के खिलाफ पनपे इस गुस्से ने शओमी, Realme, Oppo और Vivo जैसे ब्रांड्स की मार्केटिंग पर असर तो डाला है लेकिन इस मुहिम का असर उन भारतीय यूजर्स की जेब पर भी पड़ रहा है जो पहले से ही किसी चीनी कंपनी का मोबाइल यूज़ कर रहे हैं।

जी हाँ जिन लोगों के पास पहले से ही चीनी ब्रांड के स्मार्टफोंस है उनके लिए एक बुरी खबर है कि देश में चाइनीज मोबाइल्स के पार्ट्स की कमी हो गई है। इस कमी की वजह से स्मार्टफोंस के पार्ट्स महंगे हो गए हैं तथा अपने मोबाइल को ठीक कराने के लिए अब पहले से ज्यादा पैसे चुकाने पड़ सकते हैं।

स्थानिय मोबाइल मैकेनिक के अनुसार कुछ सप्ताह पहले तक जो फोल्डर 1,000 रुपये में मिल जाता था, उसकी कीमत अब 1,300 रुपये तक पहुॅंच गई है। इसी तरह फोन की बैटरी की कीमत में 50 से 150 रुपये तक तथा स्पीकर में 200 रुपये तक की वृद्धि बताई जा रही है, और इन सब का सीधा सीधा असर आम लोगों की जेब पर पड़ रहा है।

Share this:

Leave a Comment