क्या हर कोरोना मरीज को सरकार से मिलेंगे 1.5 लाख रुपये, जानें पूरा सच

महामारी के मामले देश में बढ़ते जा रहे हैं, इस बीच इस महामारी से जुड़े तमाम दावे व्हाट्सऐप और सोशल मीडिया पर शेयर किए जाते हैं। इन दावों में कुछ सही होते हैं और कुछ एकदम नकली। व्हाट्सऐप पर पिछले कुछ दिनों से एक मैसेज खूब शेयर किया जा रहा है। इसमें दावा किया गया है कि केंद्र सरकार हर कोविड-19 मरीज को 1.5 लाख रुपये दे रही है।

इस मैसेज में दावा किया गया कि केंद्र सरकार हर कोविड-19 मरीज को राहत के लिए 1.5 लाख रुपये दे रही है और इस वजह से कुछ फ्रॉड प्राइवेट डॉक्टर्स नॉर्मल बुखार और जुकाम वाले मरीजों को भी कोविड-19 मरीज बता रहे हैं।

मराठी में वायरल हुए इस मैसेज में दावा किया गया है, ‘केंद्र सरकार ने घोषणा की है कि म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन को हर कोरोना मरीज के लिए 1.5 लाख रुपये दिया जाएगा.

इसके बाद भारत सरकार की प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो, फैक्ट चेक के आधिकारिक ट्विटर हैंडल ने बताया है कि यह दावा एकदम फेक है और केंद्र सरकार ने ऐसी कोई घोषणा नहीं की है।

ट्वीट में लिखा गया की, यह ‘दावाः व्हाट्सऐप पर एक मैसेज वायरल हो रहा है, जिसमें कहा गया है कि केंद्र सरकार हर कोविड-19 मरीज के लिए म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन को 1.5 लाख रुपये दे रही है। पीआईबी फैक्ट चेकः यह दावा फेक है, सरकार द्वारा ऐसी कोई घोषणा नहीं की गई है।

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *