कोरोना लेकर आई नई मुसीबत, मरीजों को हुई भूलने की बीमारी

 कोरोना मरीजों को आजकल एक अजीब तरह की बीमारी होने लगी है। यह मरीज कोरोना से ठीक हो कर तो आ जाते हैं लेकिन छोटी-छोटी चीजें भूलने लगे हैं। इसी कड़ी में एक मामला सामने आया है जिसमें किदवई नगर के बुजुर्ग को कोरोना हुआ। 20 दिन के अंदर इलाज के बाद निगेटिव होकर वो घर भी आ गए। लेकिन अब वह बिलकुल बदल गए हैं।

 वह चाय-पानी देने पर चौंक पड़ते हैं। अक्सर नहाकर कपड़े पहनना भी भूल जाते हैं। इसी तरह लाजपत नगर के बैंक अफसर कोरोना संक्रमण में 16 दिन भर्ती रहे। निगेटिव हुए पर तेज सिरदर्द से परेशान थे। दोबारा चार दिन भर्ती रहे। 15 दिन बाद जब बैंक पहुंचे तो कंप्यूटर से लेकर लॉक तक सारे पासवर्ड भूल चुके थे। सब दोबारा रिसेट किए गए। जब इन मामलों की पड़ताल की गई तो डॉक्टरों ने इसे ब्रेन फौग का नाम दिया।

 मेडिकल कॉलेज के न्यूरोलॉजी हेड प्रो. आलोक वर्मा के मुताबिक कोरोना वायरस नसों में खून के थक्के बना देता है। उससे यह दिक्कत हो सकती है। लम्बे समय तक ऑक्सीजन सपोर्ट पर रहने वाले मरीजों की ब्रेन की नसें भी कमजोर होने लगती हैं। इससे न्यूरो समस्या पैदा होती है। इसीलिए इस तरह की भूलने की बीमारी हो सकती है। इन मरीजों में ज्यादातर बुजुर्गों को यह दिक्कत का सामना करना पड़ता है।

Share this:

Leave a Comment