किसानों ने सरकार के सामने रखी ये 6 बड़ी मांगे आप भी जानिए

कृषि कानून को वापस लेने की मांगो पर किसान अड़े हुए हैं जिसकी वजह से वह कड़ा आंदोलन भी कर रह हैं . शनिवार को केंद्र सरकार और किसानों की बातचीत का तीसरा दौर जारी है. ऐसे में किसानों की ओर से लिखित में सरकार के सामने अपनी मांगों को रखा गया है, जिनपर वो किसी भी तरह लिखित में गारंटी चाहते हैं. आपको बता दें दोस्तों किसानों ने अपनी मांगों में यह चीजें रखी है.

पहली मांग -.तीनों कृषि कानूनों को तुरंत वापस लिया जाए.
• दूसरी मांग – देशभर में किसान नेता, कवियों, वकीलों और पर जो केस दर्ज हैं, वो तुरंत वापस लिए जाएं
• तीसरी मांग -खेती के लिए डीजल के दामों में 50 फीसदी की कटौती हो
• चोथी मांग – NCR रीजन में वायु प्रदूषण एक्ट में बदलाव को वापस लिया जाए.
• पांचवी मांग -MSP को फिक्स करने के लिए स्वामीनाथन फॉर्मूले को लागू किया जाए.
• छटी मांग – किसानों के लिए MSP को कानूनी बनाया जाए.

गौरतलब है कि किसानों और सरकार के बीच अबतक तीन दौर की बात हो चुकी है. 5 दिसंबर को आखिरी बार किसान और सरकार एक ही टेबल पर थे, लेकिन चर्चा पूरी नहीं हुई थी. ऐसे में अब किसानों ने अपनी मांगों को लिखित में दिया है लेकिन किसानो की मांगे कही न कही उतनी छोटी भी नहीं हैं इसीलिए सरकार इसपर विचार करके जल्द ही अपना फैसला सुनाएगी।

Share this:

Leave a Comment