कहीं कर्फ्यू, कहीं स्‍कूल बंद, दिल्‍ली में सख्‍ती, क्‍या लगने वाला है लॉकडाउन

क्‍या लॉकडाउन फिर से लगेगा? यह सवाल लोगों की जुबान पर है क्‍योंकि पिछले कुछ दिनों में ऐसे ही संकेत मिले हैं। कोविड-19 के नए मामलों में भले ही गिरावट हो लेकिन कुछ जगहों पर स्थिति और गंभीर हो गई है। यहां नवंबर के महीने में केसेज घटने के बजाय बढ़ते रहे। ऐसे में सख्‍ती बरतना जरूरी हो गया है। गुजरात के अहमदाबाद में शनिवार रात से सोमवार सुबह तक ‘पूरी तरह कर्फ्यू’ लगा दिया गया है।

दिल्‍ली सरकार ने भी सख्‍ती बढ़ा दी है। वहीं, कुछ राज्‍यों ने मामले बढ़ते देख स्‍कूल भी बंद कर दिए हैं। इनमें हरियाणा, उत्‍तराखंड, मिजोरम, हिमाचल प्रदेश जैसे राज्‍य शामिल हैं। ऐसे में देशव्‍यापी न सही, लेकिन स्‍थानीय स्‍तर पर लॉकडाउन की संभावना जताई जा रही है। कंटेनमेंट जोन के भीतर पूरी तरह लॉकडाउन फिर से हो सकता है।

22 दिन में आए 10 लाख नए केस, भारत में अभी ऐसे बढ़ रहा है कोरोना

आखिरी 10 लाख मामले 22 दिन में सामने आना यह दिखाता है कि भारत में मध्‍य सितंबर में पीक पर पहुंचने के बाद से कोरोना का प्रकोप घटा है। उस वक्‍त सिर्फ 11 दिन में ही मामले 40 लाख से बढ़कर 50 लाख हो गए थे।

कोरोना को लेकर घिरी अरविंद केजरीवाल सरकार ने सख्‍ती बरतना शुरू कर दिया है। सार्वजनिक जगहों पर मास्क नहीं पहनने वालों पर 2000 रुपये का जुर्माना लगाने की घोषणा की है। अभी तक मास्क नहीं पहनने पर 500 रुपये जुर्माने का प्रावधान था। वही दिल्‍ली में शादियों के भीतर गेस्‍ट्स की लिमिट भी 200 से घटाकर 50 कर दी गई है।

Share this:

Leave a Comment