इस दिवाली पटाखा कारोबारियों को दिल्ली सरकार दे पैसा, करें नुकसान की भरपाई

दिवाली से पहले हर साल की तरह इस साल भी पटाखों को लेकर सरकार एक्शन में आ गई हैं. देश की राजधानी दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने पटाखों की बिक्री पर रोक लगाई है. इसके साथ ही राज्य में सिर्फ ग्रीन क्रैकर्स जलाने की परमिशन है. सरकार के इस कदम पर कैट के प्रमुख ने कहा कि सरकार के इस फैसले से हर साल पटाखा व्यापारियों को काफी नुकसान होता है.

इस साल सरकार को इन व्यापारियों को दिवाली पर होने वाले नुकसान की भरपाई करनी चाहिए.

केजरीवाल सरकार ने 7 नवंबर 2020 से 30 नवंबर 2020 तक सभी प्रकार के पटाखे बेचने पर पूर्ण प्रतिबंध होगा. कैट ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल से मांग की है कि इस साल पटाखा व्यापारी को होने वाले नुकसान की भरपाई सरकार की ओर से की जाए.

कैट के राष्ट्रीय महामंत्री खंडेलवाल ने कहा कि दिल्ली सहित कई राज्यों ने बिना सोचे समझे पटाखों की बिक्री और उनको जलाने पर प्रतिबंध लगा दिया है जोकि पूरी तरह से गलत है. भारत में पटाखे उद्योग लगभग 10 लाख लोगों को रोजगार प्रदान करते हैं और 80 फीसदी से अधिक पटाखे तमिलनाडु के शिवकाशी में बनाए जाते हैं जहां लगभग 1100 पटाखा निर्माण उद्योग हैं. भारत में पटाखों का कुल निर्माण लगभग 5000 करोड़ रुपए का है.

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *