आलू के तेजी से बढ़ रहे हैं दाम सामने आई यह बड़ी वजह

लॉकडाउन के दौरान आलू की खपत दोगुनी हो जाने से नवंबर में इसकी कीमत तिगुनी हो गई है। बारिश के कारण नई फसल आने में अभी और 15 दिन लगने का अनुमान है। तभी कीमत नीचे उतरेगी। आपको बता दें लॉकडाउन दौर में ग्राहकों ने हरी सब्जी के लिए बाजार जाने की जगह घर में ही आलू स्टाक करके रख ली।

 परिणाम रहा कि मार्च से सितंबर 2020 तक प्रदेश में प्रतिमाह 145 से 150 टन आलू की खपत रही। यही वजह है कि वर्तमान में बाजार में आलू का संकट खड़ा हो गया है। व्यापारियों का स्टाक भी धीरे-धीरे खत्म हो रहा है। कम स्टाक के कारण कीमतों में भारी तेजी है।

जानकारी के लिए बता दें, थोक भाव में आलू 35 से 40 रुपये किलो के भाव उपलब्ध है तो खुदरा व्यापारी 55 से 60 रुपये प्रति किलो के भाव से बेच रहे हैं। यह अब तक की आलू की सबसे ज्यादा कीमत है। आने वाले 15 दिनों तक की कीमत में गिरावट दर्ज नहीं की जा सकती है। 15 दिनों के बाद कीमतों में कुछ फर्क दिखाई दे सकता है।

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *