अमेरिका में जो कुछ भी हुआ, वो है भारत के खिलाफ चल रहे अंतरास्ट्रीय साजिश का सबसे बड़ा प्रमाण

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 5 अगस्त 2019 को एक ऐतिहासिक फैसला लिया था. जिसमें जम्मू-कश्मीर के विशेष अधिकार के दर्जे को समाप्त कर दिया गया था. जिसके बाद से पाकिस्तान लगातार इस फैसले के खिलाफ आवाज उठाता रहा है.

अमेरिका की बिडेन सरकार ने पाकिस्तान के बहकावे में आकर न्यूयोर्क स्टेट असेम्बली द्वाया 5 फरवरी को कश्मीर अमेरिकी दिवस घोषित करने सम्बन्धी प्रस्ताव को पारित कर दिया है. भारत ने न्यूयोर्क स्टेट असेम्बली के इस फैसले के खिलाफ नाराजगी जताते हुए असेम्बली पर निहित स्वार्थों को साधने की बात कही है.

पाकिस्तान इस दिन को ‘कश्मीर एकता दिवस’ के रूप में मनाता है. धारा 370 के हटने के बाद से ही पाकिस्तान लगातार इसके खिलाफ आवाज उठता रहा है, पाकिस्तान ने अपनी इस नापाक हरकत को पूरा होते देख ख़ुशी जाहिर की है. जम्मू-कश्मीर के विशेष राज्य का दर्जा समाप्त होने के बाद से ही पाकिस्तान की बोकलाहट जगजाहिर है.

Share this:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *