अब गंगाजल से खत्म होगा कोरोना काम हुआ शुरू...

घातक कोरोना के प्रकोप को लेकर पूरे विश्‍व में चिंता के बीच एक अच्‍छी खबर आई है। काशी हिन्‍दू विश्‍वविद्यालय (बीएचयू) के इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल सायेंस (आईएमएस) में हुए रिसर्च से पता चला है कि गंगाजल में खास तादात में मौजूद बैक्‍टीरियोफेज कोरोना को खत्म करने की क्षमता रखते हैं।

गंगाजल से कोरोना के इलाज के ह्यूमन ट्रायल की तैयारी के बीच इस रिसर्च को इंटरनेशनल जर्नल ऑफ माइक्रोबायोलॉजी में जगह मिलने का स्‍वीकृति पत्र मिला है।
न्‍यूरोलॉजी विभाग के एचओडी डॉ. रामेश्‍वर चौरसिया व प्रख्‍यात न्‍यूरोलॉजिस्‍ट प्रो. वी.एन.मिश्रा की टीम ने प्रारंभिक सर्वे में पाया है कि नियमित गंगा स्‍नान और गंगाजल का किसी न किसी रूप में सेवन करने वालों पर कोरोना संक्रमण का थोड़ा भी असर नहीं है।

गंगोत्री से करीब 35 किलोमीटर नीचे गंगनानी में मिलने वाले गंगाजल का ह्यूमन ट्रायल में प्रयोग किया जाएगा। यह टेस्ट 250 लोगों पर किया जाएगा और फिर उनके हाव-भाव पर नजर रखी जाएगी। यदि गंगाजल से कोरोना का इलाज मुमकिन हुआ तो भारत के लिए यह एक बहुत बड़ी जीत साबित होगी।

Share this:

Leave a Comment